Saturday, May 19, 2018

UP : थाने पर फेंके गए पत्थर, पुलिस ने की फायरिंग, 3 घायल, DM और DIG पहुंचे


---------- Forwarded message ----------
From: PVCHR Communication <cfr.pvchr@gmail.com>
Date: 2018-05-19 13:47 GMT+05:30
Subject: UP : थाने पर फेंके गए पत्थर, पुलिस ने की फायरिंग, 3 घायल, DM और DIG पहुंचे
To: "cr.nhrc" <cr.nhrc@nic.in>, covdnhrc <covdnhrc@nic.in>
Cc: lenin <lenin@pvchr.asia>


To,                                                              
The Chairperson,
National Human Rights Commission
New Delhi.

Dear Sir, 
I want to bring in your kind attention towards the news published in live Hindustan on 15th May, 2018 regarding UP : थाने पर फेंके गए पत्थर, पुलिस ने की फायरिंग, 3 घायल, DM और DIG पहुंचे https://www.livehindustan.com/uttar-pradesh/gorakhpur/story-patrol-of-villagers-on-police-station-in-gorakhpur-police-firing-1958689.html

Therefore it is a kind request please take appropriate action at earliest.

Thanking You

Sincerely Yours

Lenin Raghuvanshi
Founder and CEO
Peoples' Vigilance Committee on Human Rights

UP : थाने पर फेंके गए पत्थर, पुलिस ने की फायरिंग, 3 घायल, DM और DIG पहुंचे

1 / 4
PreviousNext
सरकारी जमीन पर अवैध तरीके से आवास बनवाए जाने के विरोध में मंगलवार की सुबह आक्रोशित भीड़ ने गगहा थाने पर पथराव कर दिया। पुलिस ने भीड़ को काबू में करने के लिए रबर की गोलियां चलाई। इस दौरान तीन ग्रामीण घायल हो गए। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। मौके पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पहुंच गए हैं। स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है।
आक्रोश
रबर की गोलियां लगने से 3 लोग जख्मी, पुलिसकर्मियों को भी आई चोट
प्रधान द्वारा सरकारी जमीन पर करीबी का आवास बनाए जाने से था गुस्सा
गगहा थाना क्षेत्र के अस्थौला गांव में ग्रामप्रधान द्वारा अपने एक करीबी का ग्रामसमाज की जमीन पर आवास बनवाया जा रहा है। ग्रामीण इसका विरोध कर रहे थे। ग्रामीणों ने इसकी जानकारी गगहा थाने पर दी थी। थाने से कोई कार्रवाई न होने पर ग्रामीण उग्र हो गए। सुबह ही बड़ी संख्या में ग्रामीण गगहा थाने पर पहुंच गए। उग्र ग्रामीणों ने कुछ देर नारेबाजी की फिर पथराव शुरू कर दिया। परिसर में खड़ी एसओ सुनील सिंह की प्राइवेट कार और कुछ बाइक तोड़ दी।

ग्रामीणों ने थाने के सामने ही गोरखपुर-वाराणसी राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया। स्थिति बिगड़ती देखकर पुलिस ने रबर की गोलियां चलाई। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस ने फायरिंग भी की। इससे भगदड़ मच गई। आक्रोशित भीड़ में तीन लोग घायल हो गए। घटना की जानकारी पाकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। गोला, बड़हलगंज और बांसगांव थाने की पुलिस भी बुला ली गई। पुलिस ने राजमार्ग खाली करा दिया है। स्थिति नियंत्रण में है। 
 
डीएम और डीआईजी ने किया दौरा
फायरिंग की सूचना के बाद जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन, डीआईजी निलाब्जा चौधरी समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी वारदात स्थल पर पहुंचे। थाने का निरीक्षण करने के साथ उन्होंने ग्रामीणों का भी हाल पूछा। घायलों के उपचार के लिए सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया करने का निर्देश दिया। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल गांव में काफी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पुलिस की रबर बुलेट से जख्मी 15 वर्षीय दीपक, 12 वर्षीय रंजीत और 65 वर्षीय जीतू को उपचार के लिए जिला अस्पताल गोरखपुर में भर्ती कराया गया है। 




Friday, April 27, 2018

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले के थाना कैंट के पहाड़िया पुलिस चौकी में सिपहियो द्वारा मानवाधिकार कार्यकर्ता डा0 लेनिन रघुवंशी के साथ अभद्रता करने व मारपीट किये जाने के सन्दर्भ में

सेवा में,                                          27 अप्रैल, 2018

श्रीमान पुलिस महानिदेशक महोदय,

उत्तर प्रदेश |

विषय : उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले के थाना कैंट के पहाड़िया पुलिस चौकी में सिपहियो द्वारा मानवाधिकार कार्यकर्ता डा0 लेनिन रघुवंशी के साथ अभद्रता करने व मारपीट किये जाने के सन्दर्भ में |

महोदय,

      आपको यह अवगत कराना चाहता हूँ कि मै लेनिन रघुवंशी, मानवाधिकार कार्यकर्ता हूँ | दिनांक 21 अप्रैल, 2018 को मेरे छोटे भाई कणाद को मोहल्ले में ही एक शादी समारोह में कुछ लोगो द्वारा बहुत बुरी तरह से मारा पीटा गया जिसके कारण उसके सर में 18 टाँके लगे है | लेकिन पुलिस ने अभी तक FIR नहीं लिखा | उस समय मै लन्दन में था | मै दिनांक 26 अप्रैल, 2018 को शाम लगभग 4:00 बजे वहां से वापस आया तो मुझे इस घटना की जानकारी हुई | जिसपर मेरी संस्था मानवाधिकार जननिगरानी समिति के द्वारा पुलिस के उच्च अधिकारियो से इसकी शिकायत भी की गयी थी जिसका लिंक संलग्नक है (http://petition-nhrc.blogspot.in/2018/04/fir.html) | इस बाबत मैं कैंट थाने पर गया और इस घटना में FIR दर्ज नहीं करने का कारण पूछा और इस घटना में क्या कार्यवाही की जा रही है इस बारे में जानकारी चाही | तो उन्होंने मुझे पहाड़िया चौकी भेज दिया | जब मै पहाड़िया चौकी पंहुचा तो वहां पर 3 पुलिस वाले थे जिसमे से एक मुझसे अभद्रता करते हुए बातचीत कर रहा था और दूसरा मेरी बात टेप कर रहा था और मुझे उकसा रहा था | धीरे धीरे वो लोग उग्र हो रहे थे और मेरे साथ मारपीट करने पर उतारू हो रहे थे और उसने अपना नेम टैग हटा लिया | मै समझ गया कि वो लोग अब मुझपर हमला कर सकते है इसलिए मै वहां से निकलकर अपनी मोटरसाईकिल स्टार्ट करने लगा इतने में एक पुलिस वाले ने मेरा हाथ मोड़ दिया इसके साथ ही मेरा मोबाईल भी छीनकर गिरा दिया और मेरी घड़ी भी इसमें टूट गयी | मै लगातार उनलोगों से यह कहता रहा कि कानून का राज है और मै कानून के राज पर भरोसा करता हूँ और मैंने उनलोगों से कैंट थाने की पुलिस बुलाने को कहा | इसपर उस पुलिस वाले ने मुझे गाली देते हुए कहा कि साला बहुत मानवाधिकार कार्यकर्ता बनता है केस उठा उठा कर हम पुलिस को बहुत परेशान करता है यह कहते हुए उसने मेरा हाथ जोर से मोड़ दिया जिससे मेरे कलाई, कंधे और बाह पर सूजन हो गया है | इसी बीच कैंट थाने की पुलिस पहाड़िया चौकी आये तब मैंने कहा कि मेरा मेडिकल करवाइए तो उनलोगों ने मुझे कहा कि आप घर जाइये | जिसके बाद मै घर आ गया और मैंने तुरंत फेसबुक पर लाईव इस घटना की जानकारी सार्वजनिक की |

लिंक (https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=10216549125380460&id=1228281279) (https://m.facebook.com/story.php?story_fbid=10216549549551064&id=1228281279)

इस पूरी घटना में सबसे आश्चर्यजनक बात यह रही कि वो लोग मेरे उपर दिल्ली में हुए फर्जी केस के बारे में चर्चा कर रहे थे और कह रहे थे हमलोग इसका कुछ नहीं कर पाए | जिसके बाद मैंने 2:51 पर 100 नम्बर पर अपने मोबाईल नम्बर +91-9935599333 से फोन किया | परन्तु कोइ रिस्पोंस मुझे नहीं मिला | इसके साथ ही मैंने 24 घंटे जारी सेवा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के मानवाधिकार कार्यकर्ता हेल्प लाइन पर भी 3:13 बजे फोन किया परन्तु फोन उठा नहीं | जिसके बाद 6:47 मिनट पर उनका फोन आया पर मै सो रहा था इस कारण मै फोन नहीं उठा सका |

अतः आपसे अनुरोध है कि कृपया आप इस मामले को संज्ञान में लेते हुए कृपया इस घटना की जांच कराई जाय कि कौन पुलिसकर्मी इस घटना में शामिल थे ? साथ ही उन सभी दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर न्यायोचित कार्यवाही करने की कृपा करे |

 

भवदीय

 

लेनिन रघुवंशी

सीईओ

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

गवान्जू ह्यूमन राईट्स अवार्ड 2007 (साउथ कोरिया)

ह्यूमन राईट्स पुरस्कार वाईमर 2010 (जर्मनी)

आचा पीस स्टार अवार्ड 2008 (यू.एस.ए.)

अशोका फेलोशिप 2002,

सिटिजन जर्नलिस्ट 2013 अवार्ड

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333

Email:  minority.pvchr@gmail.com

             Websitewww.pvchr.asia 
             Blogwww.pvchr.net
www.testimonialtherapy.org
             Like us on facebookhttp://www.facebook.com/pvchr 


 


Thursday, April 26, 2018

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले के दौलतपुर निवासी पीड़ित को बुरी तरह से मारपीट कर अधमरा किये जाने के बाद भी कैंट थाने की पुलिस द्वारा FIR दर्ज नहीं किये जाने के सन्दर्भ में

सेवा में,                                    26 अप्रैल, 2018

श्रीमान अध्यक्ष महोदय,

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग,

नई दिल्ली |

विषय : उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले के दौलतपुर निवासी पीड़ित को बुरी तरह से मारपीट कर अधमरा किये जाने के बाद भी कैंट थाने की पुलिस द्वारा FIR दर्ज नहीं किये जाने के सन्दर्भ में |

महोदय,

      आपको यह अवगत कराना चाहता हूँ कि पीड़ित कणाद पुत्र श्री सुरेन्द्र नाथ सिंह, सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी की निवासी है | दिनांक 21 अप्रैल, 2018 को पीड़ित अपने मोहल्ले में ही राजेश्वर पटेल उर्फ़ राजेश पुत्र स्वर्गीय राजेन्द्र प्रसाद पटेल के मकान 1/173 ए-2, नई बस्ती पांडेयपुर, थाना कैंट, वाराणसी के यहाँ एक वैवाहिक कार्यक्रम में सम्मिलित होने गया था | लगभग 11:00 बजे रात को वहां पर कुर्सी पर बैठने की बात को लेकर पीड़ित का राजेश्वर पटेल से कुछ विवाद हो गया | जिसके पश्चात् पीड़ित वहां से निकाल कर अपने घर आने के लिए चल दिया स्टेज के पीछे लगे परदे से निकलकर पीड़ित अपने घर जाने को लेकिन रास्ते में ही राजेश्वर पटेल अपने तीन अन्य रिश्तेदारों के साथ पीड़ित के साथ पुनः गाली गलौज करने लगा जब पीड़ित ने उन्हें गाली देने से मना किया तो वो लोग पीड़ित को माँ बहन की गाली देते हुए पीड़ित को लात घुसो से मारने लगे और राजेश्वर पटेल ने वहां पडी ईंट से पीड़ित के सर पर कई वार किया जिससे पीड़ित के सर पर गहरी चोट लगी जिससे पीड़ित लहूलुहान हो गया वही जमीन पर गिर और अन्य लोग लात घूसों से पीड़ित के सीने और पेट में लगातार वार करते रहे जिससे पीड़ित जोर जोर से चिल्लाने लगा जिससे आस पास के अन्य लोग किसी तरह पीड़ित की जान बचाई तभी पीड़ित ने अपने मोबाईल नम्बर 8543856574 से 100 नम्बर पर इस घटना की सूचना दिया था | इसके बाद भी आरोपी पीड़ित को जान से मारने की धमकी देते रहे और हमला करने का प्रयास करते रहे |   

      इसके पश्चात् पीड़ित का इलाज कराया गया जिसमे पता चला कि पीड़ित के सर माँ बहुत गहरे घाव थे जिसकी वजह से पीड़ित के सर में लगभग 12-13 टाँके लगे है | सर में गहरी चोट के कारण पीड़ित दो दिन तक कुछ भी बोल नहीं पा रहा था | पीड़ित का अभी भी इलाज चल रहा है |

      पीड़ित ने इस घटना की सूचना 100 नम्बर पर उसी समय डी गयी थी और लिखित तहरीर 24 अप्रैल, 2018 को दी थी | परन्तु पुलिस ने आज तक पीड़ित का मुकदमा दर्ज नहीं किया | तब पीड़िटी ने उसी दिन रजिस्टर्ड डाक से थाना प्रभारी कैंट और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी महोदय को पत्र भेजा |  

      अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि कृपया इस गंभीर मामले को संज्ञान में लेते हुए जान लेवा हमला करने वाले आरोपियों के खिलाफ मुकदमा लिखकर उनकी गिरफ्तारी अविलम्ब कराने की कृपा करे |

संलग्नक :

1.      पीड़ित द्वारा 24 अप्रैल, 2018 को थानाप्रभारी कैंट महोदय को भेजे गए रजिस्टर्ड डाक की प्रति |

2.      पीड़ित द्वारा 24 अप्रैल, 2018 को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय को भेजे गए रजिस्टर्ड डाक की प्रति |

3.      पीड़ित का मेडिकल रिपोर्ट की प्रति |

 

भवदीय

 

डा0 लेनिन रघुवंशी

सीईओ

मानवाधिकार जननिगरानी समिति

सा 4/2 ए दौलतपुर, वाराणसी

+91-9935599333


Sunday, April 15, 2018

Dalit Woman Commits Suicide After Being Sexually Harassed By Two Men In UP

Dalit Woman Commits Suicide After Being Sexually Harassed By Two Men In UP

PVCHR Communication <cfr.pvchr@gmail.com>Mon, Apr 16, 2018 at 11:25 AM
To: "cr.nhrc" <cr.nhrc@nic.in>, covdnhrc <covdnhrc@nic.in>, NHRC <ionhrc@nic.in>
Cc: lenin <lenin@pvchr.asia>
To,
The Chairperson
National Human Rights Commission '
New Delhi

Dear Sir,

I want to bring in your kind attention that in NDTV on 14th April,
2018 regarding Dalit Woman Commits Suicide After Being Sexually
Harassed By Two Men In UP
https://www.ndtv.com/india-news/dalit-woman-commits-suicide-after-being-sexually-harassed-by-two-men-in-uttar-pradesh-1837499

Therefore it is a kind request please take appropriate action

1. Fair and speedy investigation
2. Protection to the victim family

Thanking You

Sincerely Yours

Lenin Raghuvanshi
Founder and CEO

The woman, who worked as a labourer in a brick klin, was allegedly
sexually harassed and her complaint was not filed by the police when
she had gone with her husband to Phugana police station, they said.
All India | Press Trust of India | Updated: April 14, 2018 11:52 IST
  by Taboola Sponsored Links Sponsored
Find out Why Millions of Parents Are Talking about This Learning
Method (Curiositi)
Only Child Of An Ola Cab Driver Needs 3 Surgeries To Live (Impact Guru)
2.2K
SHARES
EMAIL
PRINT
4
COMMENTS
Dalit Woman Commits Suicide After Being Sexually Harassed By Two Men In UP
A suicide note was recovered from the spot in which she has alleged
sexual harassment (Representational)

MUZAFFARNAGAR:  A Dalit woman committed suicide by hanging herself
from the ceiling of her house after allegedly being sexually harassed
by two men at Raipur village in the district, police said today.

The woman, who worked as a labourer in a brick klin, was allegedly
sexually harassed and her complaint was not filed by the police when
she had gone with her husband to Phugana police station, they said.

Police sub inspector Subhash Chand has been suspended in connection
with the incident, police said.

Two cases, one abatement of suicide and one sexual harassment were
registered against two persons, who were arrested in this connection,
they said

Another girl-child held captive, raped, killed — this one in Surat

Another girl-child held captive, raped, killed — this one in Surat

PVCHR Communication <cfr.pvchr@gmail.com>Mon, Apr 16, 2018 at 11:38 AM
To: "cr.nhrc" <cr.nhrc@nic.in>, covdnhrc <covdnhrc@nic.in>, NHRC <ionhrc@nic.in>
Cc: lenin <lenin@pvchr.asia>, Shruti Nagvanshi <shruti@pvchr.asia>
To,
The Chairperson
National Human Rights Commission
New Delhi
Dear Sir,
I want to bring in your kind attention towards news published in Times of India on 16th April, 2018 regarding Another girl-child held captive, raped, killed — this one in Surat https://timesofindia.indiatimes.com/india/another-girl-child-held-captive-raped-killed-this-one-in-surat/articleshow/63776650.cms
Therefore it is a kind request please take appropriate action at earliest.
Thanking You
Sincerely Yours
Shruti Nagvanshi
Managing Trustee

&
Shirin Shabana Khan
Program Director

Another girl-child held captive, raped, killed — this one in Surat

Himansshu BhattTNN | Updated: Apr 16, 2018, 08:20 IST

HIGHLIGHTS

  • There were severe injuries to her private parts caused by a blunt object, according to autopsy report
  • It seems she was confined, raped and brutally tortured before being killed, cops said
  • Police are yet to make any headway on the girl’s identity or the perpetrators of the ghastly crime
Another girl-child held captive, raped, killed — this one in Surat
SURAT: Amid nationwide outrage over the gang rape and murder of an eight-year-old in Kathua, Surat police told TOI on Sunday that an 11-year-old, whose body was found about 10 days ago, had been raped, tortured and strangled to death. There were at least 86 injury marks on her body.

There were severe injuries to the girl’s private parts caused by a blunt object, according to the autopsy report. It seems she was confined, raped and brutally tortured before being killed, cops said.

Police are yet to make any headway on the girl’s identity or the perpetrators of the ghastly crime.

India


The Surat police on Sunday formed several teams to trace the identity of a girl whose body was dumped after she was raped, torured and killed, and to track down the perpetrators of the crime, following widespread protests by people against “police inaction”.

The girl’s body was found under the bushes near a cricket stadium in Pandesara area of Surat on April 6 morning, “We will widen our probe to trace the perpetrators of the crime. All residential colonies and societies near the crime spot would be checked again to get clues. We will scan CCTV footages of nearby places,” Surat Police Commissioner Satish Sharma told TOI.

Read also: Over 30,000 rapes; 1 in 4 convicted

The details of the case came to light on Sunday, with Sharma holding a press conference. An FIR has been lodged under Sections 302 (murder), 323 (voluntarily causing hurt) and 376 (rape) of the IPC and under the Protection of Children from Sexual Offences Act against unidentified persons, Sharma said.

An officer said the girl could have been raped, tortured and killed elsewhere and then dumped in Surat.
In Video: Surat: 11-year-old girl 'raped', 'tortured' for 8 days

Improve health,sanitation and hygiene among most backward Musahar communities

PVCHR is going to implement concept of "Kitchen Garden" for nutrition and health  & model village of Musahar for elimination of malnutrition and hunger developed by Shruti Nagvanshi​ and Subhendu Bhattacharjee​ of CRY.

Thanks to New Zealand High Commission in India for kindest support 

#endmalnutrition #pvchr #u4humanrights #CRY #newzealand #NewZealandHighComission #mushar

Friday, April 13, 2018

Neighbour rapes 6-yr-old in Rohtas

---------- Forwarded message ----------
From: PVCHR Communication <cfr.pvchr@gmail.com>
Date: Fri, Apr 13, 2018 at 12:50 PM
Subject: Neighbour rapes 6-yr-old in Rohtas
To: cr.nhrc@nic.in, covdnhrc <covdnhrc@nic.in>, NHRC <ionhrc@nic.in>
Cc: Shruti Nagvanshi <shruti@pvchr.asia>, Jmn Pvchr <jmn.pvchr@gmail.com>



To,
The Chairperson
National Human Rights Commission
New Delhi
Dear Sir,
I want to bring in your kind attention towards news published in The Telegraph on 12th April, 2018 regarding Neighbour rapes 6-yr-old in Rohtas https://www.telegraphindia.com/states/bihar/neighbour-rapes-6-yr-old-in-rohtas-222737
Therefore it is kind request  please take appropriate action at earliest.


Thanking You
Sincerely Yours
Shruti Nagvanshi
Managing Trustee
&
Shirin Shabana Khan
Program Director
Peoples' Vigilance Committee on Human Rights

Neighbour rapes 6-yr-old in Rohtas

Patna: A six-year-old girl is struggling for her life after being raped by a middle-aged man at a village in Rohtas, around 165km southwest of Patna, on Tuesday evening.
Police said the accused identified as Mohammad Meraz, 40, is the neighbour of the girl. He took the victim to an agriculture field when she was pla-ying outside her residence on Tuesday evening and raped her.
He then abandoned the girl lying in a pool of blood at the spot. The victim's father, a peasant, got wary when he spotted the accused escaping from the crime scene in a suspicious manner.
He tried to follow the suspect but he managed to give him the slip. Later, the father traced his daughter lying unconscious in a bush.
The victim had suffered severe injuries in her private parts and was bleeding profusely. She was immediately taken to Kargahar primary health centre from where she was referred to Sasaram sadar hospital for better treatment.
"The girl's private parts have severely been damaged and she had to endure at least half a dozen stitches. Her condition is stable," the station house officer of Kargahar police station, Dayanand Sharma, said quoting a doctor attending to the girl.
Agitated over the incident, local residents blocked the road and forced the shopkeepers to down their shops' shutters. They also blocked the Sasaram-Kargahar Road and disrupted traffic for over three hours. They were demanding hanging of the accused.
Sharma assured the protesters that the police would recommend the case to be listed for speedy trial. "We have informed our seniors about the demand of the residents, who had earlier held a demonstration in front of the office of the police officers," the SHO added.
He said the accused was arrested late Tuesday night with the help of the residents, who were agitated over the incident.
"We want the accused to be awarded death sentence by the court for committing the heinous crime," he said over the phone. The police have sent the blood-stained clothes of the victim to the state forensic science laboratory. The accused confessed to the crime.